यूसुफ पठान

Yusuf Pathan made a bold statement in the political arena, shaking things up for Adhir Ranjan Chowdhury.

यूसुफ पठान क्रिकेट की पिच पर तो हिट थे ही अब राजनीति में भी कदम उन्होंने धमाकेदार अंदाज में रखा है. TMC यानी तृणमुल कांग्रेस के टिकट पर वेस्ट बंगाल की बहरमपुर सीट से चुनाव जीतकर यूसुफ पठान ने इतिहास रचा है. इसमें इतिहास उनका कांटे की टक्कर में उस नेता को हराना रहा, जो पिछले 25 साल से कभी नहीं हारा था. यूसुफ पठान ने राजनीति की पिच पर उतरते ही अधीर रंजन चौधरी को शिकस्त दी है.

अधीर रंजन चौधरी कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता माने जाते हैं और वेस्ट बंगाल की बहरमपुर सीट पर उनका दबदबा था. लेकिन, भारतीय क्रिकेट के बड़े पठान ने अब उनके उस दबदबे को खत्म कर दिया है. इसी के साथ उन तमाम लोगों को जवाब भी मिल गया, जिनके मन में ये सवाल चल रहा था कि बड़ौदा का पठान पश्चिम बंगाल के बहरमपुर का सुल्तान कैसे बन सकता है?

25 साल के रिकॉर्ड को ध्वस्त करते हुए चुनाव जीतने के साथ ही यूसुफ पठान ने इस बात की भी घोषणा कर दी कि अब आगे वो क्या करने वाले है? PTI से बातचीत में यूसुफ पठान ने सबसे पहले तो जीत पर अपनी खुशी जाहिर की. फिर सबको धन्यवाद कहा. उन्होंने आगे कहा कि ये उनकी नहीं बल्कि पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं की जीत है.

यूसुफ पठान ने अपने विरोधी अधीर रंजन चौधरी को लेकर भी बयान दिया. उन्होंने कहा कि वो अधीर रंजन का सम्मान करते थे और आगे भी करते रहेंगे. इन सब बातों के बाद यूसुफ पठान सीधे मुद्दे की बात पर आए और ये बताया कि वो अब क्या करने वाले हैं?

सबसे पहले इस काम पर रहेगा जोर

यूसुफ पठान ने कहा कि सबसे पहले तो वो बहरमपुर में एक अच्छी स्पोर्ट्स एकेडमी बनाना चाहेंगे ताकि बच्चे अपना करियर बना सकें. इसके बाद उन्होंने इंडस्ट्री खोलने की बात की. उन्होंने कहा कि वो अब बहरमपुर में ही रहेंगे और कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर काम करेंगे. उन्होंने कहा कि मेरी एक फैमिली गुजरात में है. लेकिन, अब बहरमपुर के लोग भी मेरा परिवार हैं.

यूसुफ पठान का कैरियर


यूसुफ पठान, भारतीय क्रिकेट के जाने-माने ऑलराउंडर हैं, जिन्होंने अपनी धमाकेदार बल्लेबाजी और प्रभावशाली गेंदबाजी से क्रिकेट जगत में एक अलग पहचान बनाई है। उनका पूरा नाम यूसुफ खान पठान है, और उनका जन्म 17 नवंबर 1982 को वडोदरा, गुजरात में हुआ था।

प्रारंभिक जीवन और करियर की शुरुआत
यूसुफ पठान का क्रिकेट के प्रति जुनून बचपन से ही था। उन्होंने अपने छोटे भाई इरफान पठान के साथ वडोदरा की गलियों में क्रिकेट खेलकर अपने खेल की शुरुआत की। यूसुफ का घरेलू क्रिकेट करियर भी शानदार रहा, जहां उन्होंने बड़ौदा टीम के लिए खेलते हुए कई शानदार प्रदर्शन किए।

अंतरराष्ट्रीय करियर
यूसुफ पठान ने 2007 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए पहले टी20 विश्व कप के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की। इस टूर्नामेंट में भारत की जीत में यूसुफ का महत्वपूर्ण योगदान रहा। फाइनल मैच में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए तेजी से रन बनाए।

इसके बाद यूसुफ ने 2008 में वनडे क्रिकेट में पदार्पण किया। उन्होंने कई मैचों में अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से टीम को जीत दिलाई। यूसुफ पठान को उनकी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाना जाता है, जहां वह बड़ी-बड़ी हिट्स लगाकर दर्शकों को रोमांचित करते थे।

read also

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)
यूसुफ पठान का आईपीएल करियर भी बेहद सफल रहा। उन्होंने 2008 में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया और टीम को खिताब जिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यूसुफ पठान ने आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद जैसी टीमों के लिए भी खेला है। उनकी एक यादगार पारी 2010 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ थी, जहां उन्होंने सिर्फ 37 गेंदों में शतक जड़ दिया था।

https://www.apnabiharjharkhand.com/bus-falls-into-ditch-after-colliding-with-pickup-on-nh-31-6-injured/

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *