देश की संसद के अंदर बसपा सांसद दानिश अली से रमेश बिधूड़ी की बदसलूकी पर असदुद्दीन ओवैसी ने बेहद तीखा बयान दिया है। ओवैसी ने कहा कि- वह दिन दूर नहीं है, जब संसद में किसी मुसलमान की मॉब लिंचिंग हो जाएगी। उन्होंने कहा, ‘याद रखो मेरी इस बात को कि एक दिन आएगा, जब हिंदुस्तान की संसद में किसी मुसलमान की मॉब लिंचिंग हो जाएगी। हिटलर की हुकूमत में कहा जाता था कि यहूदियों से बचकर रहो, उनसे जर्मनी को खतरा है। अब यहूदी शब्द को हटा दो और मुसलमान लिख दो।

इसके अलावा ओवैसी ने कहा कि- हमारे देश के प्रधानमंत्री बताएं कि कहां गया आपका सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास है। मेरी आप से अपील है कि अपने अरब के दोस्तों को भी बता दो कि हम अपने यहां मुसलमानों से ऐसा सलूक करते हैं। क्या आप मोहम्मद बिन जाएद और अर्दोगान को बताएंगे कि हम नई संसद में इस तरह करते हैं। नासिर और जुनैद को मार डाला गया, उस पर पीएम मोदी ने कुछ नहीं कहा। एक ट्रेन के अंदर तीन मुसलमानों को चुन-चुनकर मार डाला गया।

उन्होंने कहा कि, पीएम मोदी ने देश में नफरत करो और सत्ता हासिल करो को चुनावी जीत का फॉर्मूला बना दिया है। इस्लाम को गाली दो और मुसलमानों को पीटो, ताज पा जाओ। याद रखो, यदि यह नफरत खत्म नहीं हुई तो उसकी आग में सभी आ जाएंगे। हम मरने से कभी डरे नहीं हैं। अल्लाह के नाम पर जीते हैं और उसके ही नाम पर मरते हैं।

उधर, संसद में महिला आरक्षण बिल को लेकर कहा कि- महिला आरक्षण पर वोटिंग हुई तो अल्पसंख्यकों और ओबीसी महिलाओं के लिए सिर्फ हम दो लोगों ने वोट दिया। सपा, कांग्रेस सब साथ थे और 450 सांसदों के मुकाबले हम दो ही थे। संसद में जब मैंने एक संशोधन प्रस्ताव रखा तो स्पीकर ने कहा कि आपके साथ तो कोई नहीं है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *