मैं परिवारवाद नहीं मानता। पत्नी, बेटा, बेटी के चक्कर में नहीं रहता हूं। पूरे बिहार को ही अपना परिवार मानता हूं। बिहार के विकास के लिए काम किया है, आप जनता का आशीर्वाद मिला तो आगे भी विकास का यह सिलसिला जारी रहेगा।

ये बातें सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्र के रुन्नीसैदपुर प्रखंड के मानिकचौक गांव स्थित महंत विवेकानंद गिरी हाई स्कूल मैदान में आयोजित चुनावी सभा में कहीं। उन्होंने जदयू प्रत्याशी देवेशचंद्र ठाकुर के लिए जनता से समर्थन मांगा। उन्होंने कहा कि आपके हित के लिए काम किया हूं। वर्ष 2005 में सत्ता में आने के बाद लगातार काम हुआ है। पहले बिहार में घर से बाहर निकलना मुश्किल था। डर का माहौल था। हिंसा, लूट, अपराध में बिहार डूबा हुआ था। मैंने सत्ता में आने के बाद डर और भय को खत्म किया। पिछड़ा, अति पिछड़ा, अनुसूचित जाति जनजाति सबका सम्मान किया। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क बेहतर हुई हैं।

विपक्ष पर साधा निशाना

सीएम ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा कि खुद मुख्यमंत्री पद से हटे तो पत्नी को कुर्सी पर बैठाया।

फिर बेटा-बेटी के लिए काम किया। नौ बच्चे पैदा किये। विपक्ष की पार्टी पत्नी, बच्चों और परिवार की पार्टी है। मेरे लिए पूरा बिहार मेरा परिवार है। स्कूल में पहले बहुत कम बच्चे पढ़ते थे। स्वास्थ्य सुविधा की कमी थी। आज शिक्षा और स्वास्थ्य में काफी सुधार हुआ है। देर रात तक लोग सुरक्षित हैं। उन्होंने जनता से एनडीए समर्थित जदयू प्रत्याशी को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की।

विपक्षी दलों से सचेत रहना है, भ्रम में नहीं आना है

सीएम ने जनता से कहा कि विपक्ष से सचेत रहना है। उनके भ्रम में नहीं आना है। 1995 से भाजपा के साथ हैं आगे भी रहेंगे। दो बार मौका दिया। लेकिन वे गठबंधन व जनता को छोड़ खुद के विकास में ज्यादा ध्यान देने लगे।

काम का श्रेय लेने की होड़ सी मच गयी। जो बिहार के लिए ठीक नहीं था। इसी वजह से उनका साथ छोड़ा। उन्होंने कहा कि अब दल-बदल का कोई इरादा नहीं है। एनडीए गठबंधन को ही मजबूत करना है। सभा में राज्यसभा सांसद संजय झा, विधायक पंकज मिश्रा, दिलीप राय, एमएलसी रेखा कुमारी, पूर्व सांसद रामकुमार शर्मा, सीताराम यादव आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *