बिहार में चल रहे गुंडाराज की झलक आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में जेडीयू के दफ्तर में ही दिख गयी. जेडीयू कार्यालय के अंदर नीतीश कुमार बैठे और उसी कैंपस में उनकी पार्टी के विधायक गोपाल मंडल कैमरे के सामने पत्रकारों को गालियां दे रहे थे. ये वही गोपाल मंडल हैं, जिनका हॉस्पीटल में पिस्टल चमकाते वीडियो आया है. पत्रकारों ने विधायक से इसी मसले पर सवाल पूछा था, जिसके बाद उन्होंने गालियां देनी शुरू कर दी. लेकिन उसके बाद जब हंगामा मचा तो विधायक गोपाल मंडल की हेकड़ी गायब हो गयी. नीतीश कुमार के सुरक्षाकर्मियों के घेरे में गोपाल मंडल वहां से निकल कर भागे.

नीतीश से मिली गोपाल मंडल को ताकत?

भागलपुर के गोपालपुर से जेडीयू के विधायक गोपाल मंडल का एक वीडियो और तस्वीर दो दिनों से वायरल है. इसमें गोपाल मंडल एक अस्पताल में हाथ में पिस्टल लिये नजर आ रहे हैं. वैसे गोपाल मंडल गालियां देने से लेकर गुंडागर्दी के लिए लगातार चर्चे में रहे हैं. लेकिन वे नीतीश कुमार के बेहद खास माने जाते रहे हैं, लिहाजा उन पर कार्रवाई करने में प्रशासन के हाथ पैर फूलते रहे हैं.

आज जब नीतीश कुमार जेडीयू कार्यालय पहुंचे तो गोपाल मंडल उनसे मिलने पहुंच गये. नीतीश से मिलकर बाहर निकले तो पत्रकारों ने घेरा. पूछा-हॉस्पीटल में पिस्टल क्यों दिखा रहे थे. इसके बाद गोपाल मंडल अपने असली रंग में आ गये. उन्होंने सबसे पहले ये कहा कि अभी भी पिस्टल उनके पास है और उसे निकाल कर दिखा सकते हैं. पत्रकारों ने कहा-निकाल कर दिखाइये तो उन्होंने मीडियाकर्मियों को गाली देना शुरू कर दिया. गोपाल मंडल कह रहे थे-तुम लोग मेरे बाप हो जो पूछोगे कि पिस्टल लेकर अस्पताल क्यों गये थे. इसके साथ ही वे लगातार गालियां दिये जा रहे थे.

पत्रकार भड़के तो भागे गोपाल मंडल

गोपाल मंडल की गालियों के बाद वहां मौजूद पत्रकार आक्रोशित हो उठे. उन्होंने गोपाल मंडल की गालियों का विरोध करना शुरू कर दिया. मामला बिगड़ता देख गोपाल मंडल की बोलती बंद हो गयी. इसी बीच वहां मौजूद नीतीश कुमार के सुरक्षाकर्मियों ने गोपाल मंडल को पत्रकारों के बीच से निकाला. इसके बाद गोपाल मंडल अपनी गाड़ी में जा बैठे और फिर जेडीयू कार्यालय से बाहर अपनी गाड़ी को भगाया. वे रांग साइड से अपनी गाड़ी को भगा ले जा रहे थे. उस दौरान पत्रकार उनकी गाड़ी को घेर कर लगातार सवाल पूछे जा रहे थे कि गाली क्यों दी. गोपाल मंडल की बोलती बंद थी और वे ड्राइवर को गाड़ी भगाने के इशारे कर रहे थे.

इस दौरान पुलिसकर्मियों ने विधायक गोपाल मंडल की गाड़ी को घेर रखा था. दो दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मियों के सुरक्षा घेरे में गोपाल मंडल की गाड़ी वहां से निकाली गयी और वे भाग खड़े हुए.

पार्टी का समर्थन

जेडीयू कार्यालय में खड़े होकर गाली गलौज करने वाले गोपाल मंडल को क्या पार्टी का भी समर्थन हासिल है. इस वाकये के बाद जेडीयू का जो रिएक्शन आया उससे ऐसे ही संकेत मिले. जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने इस मसले पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया. ललन सिंह ने कहा कि जाकर उनसे ही पूछिये. उधर नीतीश कुमार बगैर कुछ बोले वहां से निकल गये

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *