भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी आज बक्सर दौरे पर आ रहे हैं। सम्राट चौधरी के स्वागत में पूरा शहर बैनर पोस्टर से पट गया है। ऐसा माना जा रहा है कि इस कार्यक्रम की सफलता और असफलता ही यह तय करेगी कि बक्सर सीट से लोकसभा का उम्मीदवार कौन होगा। यही वजह है कि सम्राट चौधरी के दौरे को लेकर इलाके के तमाम नेता अपने स्तर से तैयारी में जुटे हुए हैं।

दरअसल, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर सभी राजनीतिक दलों के नेताओं की निगाहें बक्सर लोकसभा सीट पर टिकी हुई है। कुछ लोगों की माने तो बिहार के बक्सर से ही उत्तर प्रदेश के रास्ते दिल्ली की गाड़ी तक पहुंचाने का रास्ता तय होता है। यही वजह है कि एनडीए और इंडिया गठबंधन के नेताओं ने लगातार बक्सर दौरा कर सियासी गर्मी बढ़ा दी है ।

इंडिया गठबंधन के सहयोगी भाकप्पा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीप शंकर भट्टाचार्य ने हाल ही में बक्सर लोकसभा क्षेत्र को लाल झंडे का गढ़ बताया। ऐसे में अब 26 सितंबर को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी पहुंच रहे हैं तो वहीं अगले दिन यानी 27 सितंबर को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह का भी दौरा तय किया गया है।

वहीं भाजपा के युवा प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी के इस कार्यक्रम से विपक्ष के साथ-साथ एनडीए के सहयोगी एवं भाजपा के बागी नेताओं की नजरे काफी टिकी हुई है। यही वजह है कि भारतीय जनता पार्टी के बक्सर के नेता इस कार्यक्रम को सफल बनाने में जुट लगाए हुए हैं ।

आपको बताते चलें कि बक्सर में नवंबर के महीने में कैलाशपति मिश्र की मूर्ति का अनावरण किया जाना है। ऐसे में भाजपा के तमाम छोटे बड़े नेता अपने स्तर से इस कार्यक्रम को सफल बनाने में जुड़े हुए हैं। इस लिहाज सम्राट चौधरी का बक्सर आगमन अपने आप में एक बहुत बड़ा संदेश बताया जा रहा है

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *