नवादा में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का जिक्र करते हुए विपक्ष के नेताओं पर जमकर हमला किया। पीएम मोदी ने जनसभा में मौजूद लोगों से अपील करते हुए कहा कि इन लोगों की प्रभु राम से दुश्मनी है, इसलिए प्राण प्रतिष्ठा में शामिल नहीं हुए। रामनवमी आ रही है, पाप करने वालों को भूलना मत।

दरअसल, नवादा की रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देते हुए अपने 10 वर्षों के शासनकाल के दौरान किए गए विकास कार्यों को जनता के सामने गिनाया। पिछले दिनों अयोध्या के भव्य श्रीराम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में विपक्ष के नेताओं के शामिल नहीं होने और प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का बहिष्कार करने का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने इंडिया ब्लॉक के नेताओं पर जोरदार हमला बोला।

विपक्ष को निशाने पर लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मोदी ने गारंटी दी थी कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा। आज राम मंदिर का शिखर आसमान छू रहा है। जो पांच सौ वर्षों में नहीं हो पाया था। जिस राम मंदिर के निर्माण को रोकने की कांग्रेस और आरजेडी ने वर्षों तक कोशिश की, आज वह बनकर तैयार हो गया है और रामलला उसमें विराजमान हैं। यह मंदिर देशवासियों के पैसों से बना है और देशवासियों ने ही उसे बनाया है लेकिन पता नहीं, प्रभु राम से इनकी क्या दुश्मनी है?

प्रधानमंत्री ने कहा कि अयोध्या और हमारी विरासत से पता नहीं इन लोगों को क्या दुश्मनी है। इन्होने मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का विरोध किया था। इनके मन में इतना जहर भरा है कि इनकी पार्टी के कुछ लोग प्राण प्रतिष्ठा में चले गए तो उनको 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया गया। रामनवमी आ रही है, इन पाप करने वालों को भूलना मत। ये लोग अच्छी तरह से जानते हैं कि मोदी की गारंटी अगर इसी तरह से चलती रही तो इनकी वोट बैंक की दुकान बंद हो जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *