लोकसभा चुनाव को लेकर तारीखों का एलान होने के साथ ही तमाम राजनीतिक दलों के तरफ से अब एक्शन मोड में काम किया जा रहा है। इसी कड़ी में पीएम मोदी ने विपक्षी गठबंधन INDI पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मुंबई में INDI गठबंधन की पहली रैली हुई और उन्होंने अपना घोषणा पत्र जारी किया और इसमें वो कहते हैं कि उनकी लड़ाई शक्ति के खिलाफ है तो मैं उनको साफ़ कह देना चाहता हूं कि – हर बेटी शक्ति का रूप है और मैं अपनी माताओं-बहनों की रक्षा के लिए जान की बाजी लगा दूंगा।

पीएम ने कहा- ‘एक ओर शक्ति के विनाश की बात करने वाले लोग हैं, दूसरी ओर शक्ति की पूजा करने वाले लोग हैं। अब मुकाबला 4 जून को हो जाएगा कि कौन शक्ति का विनाश कर सकता है और कौन शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त कर सकता है? मेरे लिए हर मां, बेटी और बहन ‘शक्ति’ का रूप हैं। मैं उनकी पूजा करता हूं। मैं विपक्ष की चुनौती को स्वीकार करता हूं। उनके लिए मैं जान की बाजी लगा दूंगा।’

मालूम हो कि, विपक्षी गठबंधन ने शिवाजी पार्क से रविवार को अपना घोषणा पत्र जारी किया। उसी मौके पर राहुल गांधी ने शक्ति के खिलाफ लड़ने का बयान दिया। उन्होंने कहा, ‘हिंदू धर्म में शक्ति शब्द होता है। हम शक्ति से लड़ रहे हैं, एक शक्ति से लड़ रहे हैं।’ राहुल बोले, ‘अब सवाल उठता है, वो शक्ति क्या है? जैसे किसी ने यहां कहा- राजा की आत्मा ईवीएम में है। सही है, सही है। राजा की आत्मा ईवीएम में है। हिंदुस्तान की हर संस्था में है। ईडी में है, सीबीआई में है, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में है।’

उधर, राहुल के इस बयान की बीजेपी नेताओं ने निंदा करनी शुरू कर दी। बीजेपी नेताओं ने कहा कि सनातन धर्म और हिंदुओं को अपमानित करना कांग्रेस नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन का स्वभाव बन गया है। इसके बाद इस मामले में खुद पीएम मोदी ने विपक्षी गठबंधन पर तीखा तंज कसा है। ऐसे में इस चुनाव में अब लड़ाई परिवारवाद के साथ शक्ति की हो गई है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *