बिहार में पहले चरण का मतदान सम्पन्न हो चुका है। पहले चरण में चार सीटों पर मतदान के बाद सत्तापक्ष और विपक्ष के अपने-अपने दावे हैं। जहां सत्तापक्ष का कहना है कि इन सीटों पर उनकी वापसी हो रही है तो विपक्ष का कहना है कि इस बार जनता बदलाव के मूड में हैं। यहां परिवर्तन की लहर चल रही है। इसके बाद अब इन मुद्दों पर एक बार फिर से नेता विरोधी दल तेजस्वी यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। इसके साथ ही उन्होंने पूर्णिया सीट पर राहुल गांधी के प्रचार में नहीं जाने के सवाल पर भी जवाब दिया है। तेजस्वी ने नीतीश कुमार को लेकर भी बड़ी बातें कहीं हैं।

दरअसल, तेजस्वी से जब सवाल किया गया कि बिहार आने के बाद भी राहुल गांधी पूर्णिया में चुनाव प्रचार करने नहीं गए, ऐसा क्यों? तो इसके जवाब में तेजस्वी ने कहा कि अब आप लोग ही लिस्ट बनाकर दे दीजिए कि किसे बुलाना है और किसे नहीं। इसके बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि राहुल जी का कार्यक्रम था लेकिन वह नहीं गए। उन्होंने अपने नेता तारिक अनवर जी को मेरे साथ भेज दिया।

इसके आलावा तेजस्वी यादव ने इशारों ही इशारों में पप्पू यादव को लेकर भी कहा कि यदि हमें सीट मिली है तो हमलोग अपना कैंडिडेट तो देंगे ही न। इससे अधिक इस मामले में मुझे कुछ नहीं बोलना है। हम पूर्णिया जा रहे हैं, वहां जाकर जनता के बीच अपनी बातों को रखेंगे। अब वहां कोई हमारे खिलाफ ही प्रचार कर रहा है। यह गलत बात है। जब कोई व्यक्ति हद से ज्यादा इधर उधर करता हैं और फिर भी अपना प्रचार करता है।

वहीं,कम वोटिंग को लेकर तेजस्वी यादव ने कहा कि सब लोगों को घर से निकल करके वोट देना चाहिए बदलाव के लिए वोट देना चाहिए। ऐसी सरकार को चुनना चाहिए जो आपके लिए कम करें केवल बकवास ना करें झूठ ना बोले। भाजपा के जुमले के पहाड़ को वोटर्स ने बहा दिया है। मोदी जी तो गांव के बारे में बोलते ही नहीं है। जबकि भारत की आत्मा गांव में बसती है और हम बार-बार बोल रहे हैं कि मोदी मुद्दा नहीं है। मुद्दा स्थानीय है और वह हावी है और स्थानीय मुद्दे को देखते हुए ही लोगों ने चुनाव में बटन दबाया है और स्थानीय मुद्दे ही चुनाव में असल मुद्दे होने चाहिए।

उधर, तेजस्वी ने नीतीश कुमार को लेकर कहा कि कुछ चार-पांच लोग हैं वहां जो मेरे चाचा को हाई जैक कर लिए हैं।जब वक्त आएगा और हम किताब लिखेंगे तो सारी बात उसमें लिखेंगे। लेकिन जहां रहे स्वस्थ रहें जब उनके साथ थे हम तो बेटे की तरह साथ खड़े थे। हमारी संस्कृति नहीं है जो हमारे पापा के मित्र रहे पिता तुल्य हैं तो उन पर हम क्या बोले वह जो भी बोल कुछ भी बोले। रांची में इंडिया अलायंस की रैली है और कल्पना सोरेन जी ने काफी पहले फोन करके मुझे जानकारी दी थी तो हम वहां जा रहे हैं

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *