बिहार में मॉनसून के एक बार फिर कमजोर होने से बीते दो दिनों से बारिश संबंधी गतिविधियों में कमी आई है। मौसम विभाग ने राज्य में एक-दो दिन के भीतर उमस बढ़ने की संभावना जताई है। हालांकि, गुरुवार को उत्तर बिहार के तीन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी है। इसके अलावा उत्तरी क्षेत्र में कई जगहों पर ठनका गिरने की आशंका है।

मौसम विभाग ने गुरूवार को पूर्वी व पश्चिम चंपारण और गोपालगंज जिले के एक या दो स्थानों पर भारी बारिश को लेकर येलो अलर्ट जारी किया है। पटना सहित शेष जिलों में बादल छाए रहने से बूंदाबांदी व हल्की वर्षा हो सकती है। बुधवार को 12 जिलों के अलग-अलग स्थानों पर हल्की वर्षा दर्ज की गई, जबकि शेष भागों का मौसम सामान्य बना रहा।

पटना समेत शेष जिलों में आंशिक बादल छाए रहे और उमस ने परेशान किया। जमुई के गरही में 19.0 मिमी वर्षा हुई। वहीं वाल्मीकि नगर में 10.6 मिमी, मोतिहारी में 26.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई।जबकि शेष भागों का मौसम शुष्क बना रहा। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार मानसून ट्रफ जैसलमेर, कोटा, गुना, सागर, बालासोर होते हुए उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक प्रभावी है। इनके प्रभाव से प्रदेश में मानसून का प्रभाव आंशिक रूप से बना रहेगा। पटना सहित अन्य जिलों में छिटपुट वर्षा की गतिविधियां हो सकती हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *