उत्तर बिहार के लोगों के लिए यह काफी काम की खबर है। अब उन्हें कैंसर जैसे खतरनाक बीमारी की इलाज के लिए पटना या बिहार से बाहर नहीं जाना होगा। अब उन्हें इस भयावह बीमारी का इलाज बड़े ही आसनी से नजदीक में ही उपलब्ध करवा दिया जाएगा। इस बात की जानकारी खुद बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने दी है।

दरअसल, सीएम नीतीश कुमार ने श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसकेएमसीएच) को 2500 बेड का बनाने की घोषणा की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने एसकेएमसीएच स्थित होमी भाभा कैंसर अस्पताल व अनुसंधान केंद्र के आधुनिक ओटी कॉम्पलेक्स का उद्घाटन और नर्सिंग छात्रावास का शिलान्यास किया। सीएम ने कहा कि एसकेएमसीएच का लगातार विस्तार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चिकित्सा सेवाओं को तेजी से बेहतर किया जा रहा है ताकि लोगों को इलाज के लिए बाहर जाने की जरूरत न हो।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र के लिए 100 करोड़ रुपये अनुदान देने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि अस्पताल को 30 एकड़ जमीन भी जल्द उपलब्ध कराई जाएगी। सीएम अस्पताल के पीडिया वार्ड में कैंसर पीड़ित बच्चों से भी मिले और अस्पताल के बारे में पूरी जानकारी ली। उन्होंने निर्माणाधीन सेंटर फॉर कैंसर एपिडिमियोलॉजी यूनिट का भी निरीक्षण किया।

उन्होंने कहा कि यहां चल रहे निर्माण कार्य साल के अंत तक पूरे हो जाएंगे। सीएम ने शिशु गहन चिकित्सा इकाई सह अनुसंधान केंद्र में अधिकारियों और चिकित्सकों के साथ समीक्षा बैठक भी की। इस दौरान मुख्यमंत्री को कैंसर अस्पताल की प्रगति से अवगत कराया गया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि मरीजों को किसी प्रकार की कठिनाई न हो इसका विशेष ध्यान रखें।

उधर, सीएम नीतीश ने किडनी कांड पीड़िता सकरा की सुनीता से भी मिले। मुख्यमंत्री ने सुनीता को पांच लाख रुपये की सहायता राशि का चेक सौंपा। उन्होंने सुनीता को आश्वस्त किया कि जल्द ही उसकी किडनी का ट्रांसप्लांट कराया जाएगा। बीते साल झोलाछाप डॉक्टर ने सुनीता के बच्चेदानी के ऑपरेशन में उसकी दोनों किडनी निकाल ली। एक साल से अधिक समय से सुनीता लगातार इलाजरत है। सीएम के साथ स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत भी थे

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *